प्यासा कौवा | Thirsty crow story in hindi

Thirsty crow story in hindi:- नमस्कार दोस्तो कैसे हो आप सब मैं उम्मीद करता हूँ कि आप सब ठीक होंगे आज हम वह पुरानी thirsty crow ki kahani सुनेंगे pyasa kauwa kahani को मैन थोड़ा अपने अंदाज में लिखा है । Thirsty crow story in hindi


प्यासा कौवा Thirsty crow story in hindi

Thirsty crow story in hindi

  बहुत समय पहले की बात है, एक कौवा आसमान में उड़ रहा था और उसे प्यास लगी कौए ने हर जगह पानी की तलाश की लेकीन उसे कौए को पानी कंही भी नसीब नही हुआ ।

  लेकीन कौए ने हार नही मानी अपनी तलाश जारी रखी तब तक जब तक उसे पानी नही मिला एक गांव से दूसरे गांव जाता पानी की तलाश में लेकेन उसे पानी नही मिला कौए को पानी इसलिए नही मिलता की ।

  गर्मी के मौसम के कारण सारे नदी और तालाब सुख चुके थे कहीं भी पानी नही था, इस गर्मी के कारण कौए की प्यास और भी बढ़ती जा रही थी ।

  कौआ आसमान में उड़ रहा था उसने आसमान से एक नल नीचे जमीन पर देखा कौए को लगा नल के अंदर तो पानी जरूर होगा और अगर नल के अंदर पानी नही भी हुआ तो उस नल के आज बाजू पानी जरूर होगा ।

   यह सोचकर कौआ नीचे जमीन पर गया लेकीन कौए ने देखा की नल और उसके आस पास की जमनी दोनों सूखे हुए हैं कौआ नीरस होकर उड़ गया और फिर से पानी की तलाश करने लगा ।

  कौए आसमान में उड़ रहा था तभी उसके आंख पे एक चमक आई, कौआ नीचे देखने के लिए गया की यह किसकी चमक है कौए ने जब नीचे जाके देखा तो उसे एक घड़े के अंदर पानी दिखाई दिया।

   कौए का खुसी का ठिकाना नहीं रह वह पानी को देखकर अति खुस हुआ कौए ने जैसे ही अपनी चोंच उसे घड़े के अंदर दुबई तो उसे मालूम पड़ा की पानी बहुत नीचे है उसका वहां तक चोंच नही पहुंचेगा ।

   कौए ने थोड़े देर सोच विचार किया लेकीन उसे कुछ नही सूझ की पानी तक कैसे पहुँचा जाए वह जितनी बार भी उस पानी तक पहुंचने की कोसीस करता वह विफल रहता ।

   कौए ने फिर बाजू में कुछ छोटे छोटे कंकर देखा उन कंकर को देखकर कौए के दिमाग में एक योजना आई की क्यूँ न इन छोटे छोटे कंकर को पानी में डाला जाए जिससे पानी धीरे धीरे ऊपर आएगा ।

  कौए ने कंकर डालना सुरु किया कौए ने जब थोड़े से कंकर डाले तो पानी थोड़ा सा ऊपर आया कौए ने उस जगह के सारे कंकर उस पनि में डाल दिया अब कौए को लगा की वह उस पनि को पी सकता है, क्यूँ की पानी काफी उपर आगया है ।

  कौए ने जैसे ही अपनी चोंच अंदर डाली तो कौए को मालूम पड़ा की अभी भी पानी उसकी चोंच से काफी दूर है उस कौए ने फिर और कंकर आस पास से ढूढ़कर उसके अंदर डाला ।

  अब वह पानी बहुत ऊपर अचूक था इतना की वह कौआ आराम से पानी पी सके कौए ने अपनी चोंच से उस पानी को पिया और अपने गले की प्यास बुझाई और वहाँ से उड़ गया आसमान में ।

Moral stories in hindi for class 3
Moral stories in hindi for class 7
Short moral stories in hindi
Greedy dog story in hindi 

सिख:- इस कहानी से हमे यह सिख मिलती है की हमे अपनी मंजिल को पाने के लिए हर कोसीस करनी चाहिए चाहे उसके बीच मस कितनी भी रुकावट क्यूँ न आये ।

अगर कौए ने हार मान ली होती और पानी की तलास ना करता तो हो सकता की कौआ बिना पानी पिये ही मार जाता ।

और अगर कौआ उस घड़े के अंदर के पानी को देखकर छोड़ देता उसे पाने के लिए मेहनत नही करता तो भी हो सकता था की कौआ मार जाता ।

तो दोस्तो कैसी लगी आपको यह Thirsty crow story in hindi मुझे कमेंट कर के जरूर बताये और अगर इस कहानी को कहने में मुझसे कोई भूल चूक होगई हो तो वह भी कहना ।