राजा और रानी की शादी | raja aur rani dadi maa ki hindi kahaniya

raja aur rani ki shaadi hindi kahaniya 


raja aur rani ki shaadi hindi kahaniya

  हड्डाप नामक एक राज्य था और उसके राजा नरेंद्र चौधरी थे, हड्डाप राज्य बहुत ही खुशहाल और शमरुद्ध राज्य था उस राज्य में किसी भी चीज़ की कमी नही थी, राजा अपने प्रजा से बेटे जैसा प्यार करता, और प्रजा भी राजा को अपना भगवान मानती राजा को शिकार का बहुत सौक था ।

  लेकीन उस राजा की अभी तक शादी नही हुई थी राजा को रोजाना कई राजकुमारियों के रिश्ते आते लेकीन उन राजकुमारियों में से राजा को कोई भी राजकुमारी पसंद नही आती राजा से एक दिन मंत्री ने राजा से पूछा की महराज आपको कैसी राजकुमारी होना ।

  तो राजा बोला मुझे ऐसी लड़की होना जिसे मेरी दौलत से प्यार न हो, नही इस महल से और वह दिल की साफ होनी, प्रजा को अपने बेटे जैसा मन्ना चाहिए, मंत्री थोड़ा मुस्कुराये और बोले आपको ऐसी लड़की खुद ढूढ़नी पड़ेगी वह भी एक गरीब बन कर राजा मंत्री के सुझव से अति प्रसन्न हुए और बोले ठीक है।

  मैं काल से ही उस लड़की को ढूढना चालू करता हूँ, राजा गरीबो के पोसक पहनकर निकल पड़े अपनी मंजिल की तलाश में इस बीच उन्होंने कई लड़कियों से मुलाकात की लेकीन उन्हें कोई भी लड़की पसंद नही आई हर लड़की के अपने अपने जीवन साथी को लेकर बड़े बड़े ख्वाब थे, और यह राजा को पसंद नही आता ।

   एक दिन एक राजा एक पेड़ के नीचे थक हार के बैठा हुआ था, तभी उस राजा को कुछ सिपाही और एक डोली दिखाई दी, राजा एक सिपाही से पूछ बैठा की इस डोली में कौन है तो सिपाही बोला नागा राज्य की राजकुमारी सीता बैठी हुई है, राजा ने उस सिपाही से पूछा की राजकुमारी कहाँ जा रही है, उस सिपाही ने बोला पास ही में एक मंदिर हैं, वहाँ माता के दर्शन करने जा रही हैं यह बोलके सिपाही चला गया ।

   राजा उस राजकुमारी को देखने के लिए बड़ा ही बैतूल हो रहा था, राजा ने उस राजकुमारी के डोली के पीछे-पीछे  चलने लगा और जब मंदिर आया तो राजकुमारी उस डोली में से उतरी राजा ने जब राजकुमारी की पहली झलक देखा तो उस राजकुमारी के ऊपर लट्टू हो गया और राजा राजकुमारी को टुकुर-टुकुर देखता ही रहगया ।

   राजा सोचने लगा की क्या यह राजकुमारी मेरे मन मुताबिक है या नही, तो राजा ने उससे जाकर कहा मैं हड्डाप राज्य का राजा हूँ, क्या आप मुझसे शादी करेंगे लड़की ने ना कहा और वहाँ से चली गई, राजा को यह सुनकर बहुत अच्छा लगा की राजकुमारी को मेरे दौलत और महल से प्यार नही है ।

   राजा ने फिर उस राजकुमारी का पीछा किया और उसके राज्य जा पहुंचा, अब राजा को उस राजकुमारी के स्वभाव के बारे में जानना था, तो राजा ने वहाँ के प्रजा से उस राजकुमारी के बारे में जानने की कोसीस की, तो वहाँ के लोग बोलने लगे की हमारी राजकुमारी देवी है, वह सारि प्रजा को अपने बेटे जैसा प्यार करती है, और वह हर सुबह और शाम गरीबो में धन और आनाज बटती है ।

  यह सुनकर राजा अति प्रसन्न हुआ, राजा ने उस राजकुमारी से विवाह करने का निश्चित कर लिया लेकीन राजकुमारी ने राजा से विवाह करने से माना कर दिया था, राजा सोच में दुब गया की अब क्या किया जाए, राजा ने राजकुमारी के पिता से बाते की और कहा की मैं आपके बेटी से शादी करने चाहता हूँ, राजकुमारी के पिता ने कहा की हमारी बेटी को अगर तुम पसंद आये तो हम शादी के लिए राजी हैं ।

   जब राजा ने राजकुमारी से शादी की बात की तो राजकुमारी ने राजा के सामने तीन शर्ते रखी पहली शर्त राजा को राजकुमारी को तलवार बाजी में हराना होगा राजा ने यह शर्त मंजूर की और राजकुमारी को तलवार बाजी में हरा दिया ।

   फिर राजकुमारी ने राजा के सामने दुशरी शर्त रखी और कहा की तुम्हे अगर मुझसे शादी करनी है तो तुम्हे प्रजा में से किसी एक की हत्या करनी होगा, राजा ने यह सुनकर रराजकुमारी से विवाह करने से मना कर दिया और कहा की प्रजा मेरे लिए मेरे बेटे जैसे है मैं उनकी हत्या नही कर सकता, यह सुनकर राजकुमारी प्रसन्न हुई और कहा तुम दुशरी शर्त भी जीत गए, और कहा की मैं तुम्हारी परीक्षा ले रही थी की तुम अपने प्रजा से प्यार करते हो या फिर नही ।

   राजकुमारी ने फिर राजा के सामने तीसरी और आखरी शर्त कहा की तुम्हे एक पहेली सुलझानी होगी और कह पहेली यह है, आपके पास 8 सिक्के हैं जो देखने में एक दम एक समान हैं, आपको पता चलता हैं की उसमे से एक सिक्का नकली हैं , और नकली सिक्का बाकी सब सिक्को से जरा सा वज़नी है. अगर - आपके पास एक बैलेंस तराजू है (पर कोई बाट नहीं) आप सिर्फ 2 बार ही तौल सकते हैं तो नकली सिक्के को कैसे पहचानेंगे ?

   राजा थोड़ा सोचने लगा थोड़े देर सोच विचार करने के बाद राजा ने कहा, 3 - 3 सिक्के निकाल कर तराजू के दोनों ओर रखे, अगर - दोनों पलड़ा बराबर हैं तो इन छे सिक्को को छोड़कर बचे 2 सिक्को को एक एक पलड़े पर रक्खे जो भारी निकले वो नकली हैं, अगर एक तरफ पलड़ा भारी है तो , भारी पलड़े के 3 में से दो सिक्के निकले और उन्हें तौल ले - अगर बराबर हो तो बचा हुआ सिक्का नकली हैं , अगर एक भारी हो तो वो सिक्का नकली है ।

  यह सुनकर राजकुमारी ने कहा की सही जवाब और शादी के लिए राजी होगई राजा ने राजकुमारी से शादी कर ली और उसके साथ अपना जीवन हंसी खुसी बिताने लगा ।

   यह कहानी खत्म करने से पहले मैं आपसे जानना चाहूंगा की राजकुमारी को कैसा लड़का चाहिये था, अगर आपको इसका जवाब मालूम है तो आप मुझे comment  करके जरूर बताये, और यह भी बताना की आपको कहानी कैसी लगी ।