गधा बना वकिल |gadha bana vakil majedar hindi kahaniya

गधा बना वकिल Gadha bana vakil majedar hindi kahaniya 


Gadha bana vakil majedar hindi kahaniya

  एक गांव में रामु नाम का एक धोबी रहता था और उसका एक गधा, रामु रोज लोगो के घर जा जाकर उन्से उनके कपड़े धोने के लिए मांग के लाता और वह सारे कपड़े अपने गधे पे लाद के धोबी घाट लेके जाता ।

  रामु का गधा बहुत ही सुस्त रहता था, वह चलते चलते कहीं भी बैठ जाता था, इसलिए रामु अपने पास हमेसा एक डंडा रखता वह जब भी कहीं बैठता तो उस डंडे से उसे मरता ।

   एक बार रामु एक स्कूल के रिश्ते से गुजर रहा था, अध्यापक अपने विद्यार्थियों को डाटते हुए कह रहे थे की, अगर मैंने इतना सब एक गधे को पढ़या होता तो वह एक हुसियार इंसान बन गया होता लेकेन तुम सब के सब गधे से भी गए गुजरे हो ।

    यह बाते सुनकर रामु उस अध्यापक के पास गया और उन्हें बोला की अभी आप बोल रहे थे की आप गधे को हुसियार इंसान बना सकते हैं, आप मेरा यह गधा लीजिये और इसे एक हुसियार आदमी बना दीजिये, वह अध्यापक रामु को देखता ही राह गया ।

    उस अध्यापक ने रामु को बहुत समझाने की कोसीस की, की ऐसा नही हो सकता है, यह ना मुमकिन है मैं बस बच्चों को समझाने के लिए ऐसा बोल रहा था, लेकिन रामु ने उस अध्यापक की एक ना सुनी, अध्यापक ने हार-पिच के उस गधे को अपने पास रख लिया और कहा की तुम दो शाल बाद आना मैं इस गधे को इंसान बना दूंगा ।

   फिर रामु वह से चला गया, और रामु फिर दो शाल बाद वापस उस अध्यापक के पास आया और बोला की मेरा गधा कहाँ है, अध्यापक बोला अब वह गधा नही रहा आपका गधा एक वकील बन चुका है, और वह अभी कोट में वकालत करने गया है, यह सुनकर रामु बहुत खुस हुआ और बोला की मैं अपने कैसे पहचानूंगा ।
 
   अध्यापक ने बोला की तुम जिस डंडे से उसे मरते थे वही डंडा लेकर वहाँ पर जावो जो भी आदमी तुम्हारे डंडे से डरा तो समझ जाना की वही तुम्हारा गधा है, रामु अपना डंडा लेकर कोर्ट जा पहुंचा, वह उतने सारे वकीलों को देखकर सोच में दुब गया की उसका गधा कौनसा है ।

   तभी रामु ने एक वकील को भागते हुए देखा और समझ की यह उसका ही गधा है, रामु ने उस विकिल को पकड़ लिया और बोला मेरे गधे कहाँ भगा रहा है, अपने मालिक को नही पहचान रहा, उस विकिल को कुछ समझ में नही आ रहा था की यह आदमी कौन है और मुझे गधा क्यूँ बोल रहा है ।

    फिर रामु बोला की तू ऐसे नही मानेगा तुझे पुरानी बाते याद दिलानी पड़ेगी, रामु ने अपने डंडे से उस विकिल को वहीं पे मरना चालू कर दिया और उसे मरता ही गया ।

यह भी हिंदी कहानिया जरूर पढ़ें 

(1) raja rani ki shaadi dadi maa kihindi kahaniy
(2) lalchi mithaiwala hindi kahaniya
(3) lalchi dukandar hindi kahaniya